लगभग 1960 में, ओईआर्तज़ुन नदी पर निर्मित लोकप्रिय पुल पुएंते दे ला पापेलेरा।
पुएंते दे ला पापेलेरा पुल का वास्तविक दृश्य।

इतिहास

इतिहास में क्रमिक विकास
1868 वास्को बेल्जियन कंपनी ने एर्रेंतेरिआ में कागज़ उत्पादन आरम्भ किया।
1901 बिल्बाओ में तीन कारखानों के मिलन से एक ला पापेलेरा एस्पान्योला एस ऐ का गठन हुआ, जिनमें से एक थी एर्रेंतेरिआ की वास्को बेल्जियन कम्पनी। उस समय वहाँ कागज़ उत्पादन हेतु दो मशीनें सुलभ थीं (एम पी 1 और एम पी 2) जो कच्चे माल के तौर पर पाइन वृक्ष से प्राप्त यांत्रिक लुगदी का उपयोग करती थीं।
1912 एर्रेंतेरिआ कारखाने में कागज़ उत्पादन की तीसरी मशीन (एम पी 3) ने कार्य आरम्भ किया, जिसने पिछली मशीनों को स्थानांतरित किया।
1931 प्रेस कागज़ निर्माण उद्योग संघ (ला एसोसिएशन दे फाब्रिकांतेस दे पापेल प्रेंसा) ने एर्रेंतेरिआ में एक नयी कागज़ उत्पादन मशीन (एम पी 4) संचालित करना आरम्भ किया जो कि पापेलेरा दे ओआरसो की संपत्ति थी।
1954 ला पापेलेरा एस्पान्योला ने पापेलेरा दे ओआरसो को अपने में समाहित किया, इस तरह उनके पास दोनों मशीनें (एम पी 3 और एम पी 4) उपलब्ध हो गईं।
1964 एक वाष्प चलित जनरेटर जो तेल को ईंधन की तरह उपयोग करता था, वह कार्य करने लगा। स्वयं का थर्मल पॉवर स्टेशन स्थापित हुआ।
1965 एक नयी कागज़ उत्पादक मशीन (एम पी 5) परिचालित होने लगी।
1988-1990 कारखाने में औद्योगिक नवीनीकरण प्रक्रिया प्रारम्भ हुई। एम पी 4 और एम पी 5 कागज़ उत्पादक मशीनों के विकास में, लुगदी उत्पादन और ऊर्जा उत्पादन में पूंजी लगाईं गई, (एक नया ईंधन भाप जनरेटर प्राकृतिक गैस स्टीम बॉयलर संचालित होने लगा)।
1991 पूर्व स्थापित कागज़ उत्पादक एम पी 1 और एम पी 2 मशीनों के साथ डी-इंक करने वाली डी आई पी 1 मशीन कार्य करने लगी। इसका मुख्य कार्य है खासतौर पर एम पी 5 कागज़ मशीन को रीसाइकल्ड पेपर से निर्मित डी-इंक्ड लुगदी की आपूर्ति करना।
1993 ला एस्पान्योला एस ऐ से विलगाव के पश्चात् पाप्रेसा ऐस ऐ का सृजन हुआ और इसने अक्टूबर 1993 में अपना स्वतंत्र काम करना आरम्भ किया। इसके पास अपना मेकैनिक लुगदी संयंत्र और डी-इंक संयंत्र (डी आई पी 1), थर्मल पॉवर संयंत्र और कागज़ उत्पादक मशीनों एम पी 3, एम पी 4 एवं एम पी 5 की उपलब्धता है।
2002 एम पी 4 मशीन का सम्पूर्ण जीर्णोद्धार करके एक नए डी-इंक संयंत्र का गठन किया गया।
2004 पाप्रेसा में ऐतिहासिक महत्त्वपूर्ण निवेश किया गया और एक नई कागज़ उत्पादक (एम पी 6) मशीन का निर्माण किया गया। इस तरह कारखाने की उत्पादन क्षमता को दोगुना किया गया।
2005 वाष्प चलित टरबाइन में संशोधन करके विद्युत् ऊर्जा में उत्पादन क्षमता की वृद्धि की गई।
2007 अल्फोंसो गयारदो समूह ने कंपनी के समग्र शेयर खरीदने की और कदम बढ़ाये।
2014 के के आर निवेशक समूह द्वारा पाप्रेसा (PAPRESA) को अधिगृहीत किया गया।